31 वां पड़ाव : गढ़ में विराजे हनुमान जी के दर पर हुआ सुंदरकांड का पाठ,राजपरिवार ने किया धर्मयात्रियों का सत्कार

Published by [email protected] on

Spread the love

31 वां पड़ाव : गढ़ में विराजे हनुमान जी के दर पर हुआ सुंदरकांड का पाठ,राजपरिवार ने किया धर्मयात्रियों का सत्कार

छुईखदान 00 धर्मयात्रा के हर पड़ाव में आस्था का सैलाब उमड़ रहा है। 31 वें पड़ाव में छुईखदान राजमहल परिसर गढ़ी हनुमान जी के रूप में विराजमान पवनपुत्र के दर पर सुंदरकांड व हनुमान चालीसा का पाठ हुआ। परिसर में ही भगवान राधा – कृष्ण अष्ठधातु विलक्षण प्रतिमाएं विराजमान है। छुईखदान रियासत के राजपरिवार के वंशज राजा गिरिराज किशोर दास वैष्णव ने बताया कि तत्कालीन महंत राजा रूपदास के कार्यकाल में ही वर्तमान गढ़ की नींव पड़ी। महल निर्माण के साथ 1750 से गढ़ में हनुमान जी विराजमान हो चुके थे। तब समस्त छुईखदान रियासत व यहाँ के रहवासियों की रक्षा का भार हनुमान जी पर ही है। छोटे राजा देवराज किशोर दास वैष्णव ने महल के बाहर ही धर्मध्वज थामा। धर्मयात्री पंडित धर्मेंद्र दुबे,राकेश गुप्ता,राजीव चंद्राकर, हेमू साहू,विजय प्रताप सिंह,शिवम नामदेव,सूरज देवांगन,गौतम सोनी,हर्ष वर्धन वर्मा,सुभाष सिंह राजपूत,अजय वर्मा,भूप वर्मा सहित अन्य छुईखदान रियासत के इतिहास को करीब से जाना।

राजपरिवार को सिद्धपीठ श्री रुक्खड़ स्वामी की प्रतिकृति भेंट

धर्मयात्रा प्रमुख भागवत शरण सिंह ने रियासत की राजमाता विजयलक्ष्मी देवी भेंट स्वरूप सिद्धपीठ श्री रुक्खड़ स्वामी की प्रतिकृति भेंट की। समस्त धर्मयात्रियों का राजपरिवार के सदस्यों ने तिलक लगाकर स्वागत किया। छुईखदान में धर्मयात्रा के संयोजन में श्री जगन्नाथ सेवा समिति के सदस्यगण संजीव दुबे,अदित्यदेव वैष्णव,शरद श्रीवास्तव, पीयूष महोबिय,राजकुमार वैष्णव,मनोज चौबे,सचिन महोबिया,गौतम सेन,आलोक बख्शी,नवीन डे,मनोज वैष्णव,विजय दुबे,लाल जे के वैष्णव,प्रदीप श्रीवास्तव,दिलीप वैष्णव,डॉ.भद्र,गिरिश श्रीवास,बसंत यादव,राहुल यादव,पंचम साहू,शुभम चंद्राकर का विशेष योगदान रहा।

महिलाएं निभा रहीं सतत भागीदारी

धर्म जन जागरण की इस यात्रा में गायिका डॉ.विधा सिंह राठौर के साथ समिति महिला मंडल की अध्यक्ष ललिता चंद्राकर,उषा चंद्राकर,लक्ष्मी चंद्राकर,तीज कुंवर चंद्राकर, उर्मिला चंद्राकर,चेतना चंद्राकर,चित्रलेखा चंद्राकर,रामेश्वरी चंद्राकर, दीपिका चंद्राकर, गीता वैष्णव,संतोषी चंद्राकर, पूर्णिमा चंद्राकर,शकुन चंद्राकर,सुषमा चंद्राकर सहित महिलाएं सतत भागीदारी निभा रहीं हैं।

शिव समाज ने दी ऊर्जा

यात्रा के प्रत्येक पड़ाव में पूरी श्रद्धा के साथ शामिल होकर छुईखदान शिव समाज ने भी नई ऊर्जा दी। समाज के अजय चंद्राकर,देवेश सोनी,पंडित अश्विनी त्रिपाठी,पन्ना मंडावी,आलोक यादव,राकेश वैष्णव,ॐ चंद्राकर,पंडित सुरेंद्र तिवारी,मुकेश वैष्णव,नन्हें चंद्राकर,सोनू चंद्राकर सहित अन्य ने महत्वपूर्ण योगदान दिया।

लक्ष्मणपुर में 32 वें पड़ाव की भव्य तैयारी 

धर्मयात्रा 32 वें पड़ाव धर्मयात्रा लक्ष्मणपुर पहुंचेगीं। अगले मंगलवार 28 जून को यात्रा के स्वागत के लिए भव्य तैयारियां की जा रही हैं। जिसमें सैकड़ों की संख्या में धर्मयात्री शामिल होंगें।


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.