कलेक्टर ने किया सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण कार्य का निरीक्षण

Published by [email protected] on

Spread the love

कलेक्टर ने किया सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण कार्य का निरीक्षण


– राजनांदगांव विकासखण्ड तिलई, उपरवाह, गोपालपुर में किए जा रहे सर्वेक्षण कार्य का किया निरीक्षण
राजनांदगांव 01 अप्रैल 2023। छत्तीसगढ़ राज्य सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण 2023 कार्य आज से जिले में प्रारंभ हो गया है। कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने आज राजनांदगांव विकासखण्ड के ग्राम तिलई, उपरवाह और गोपालपुर में किए जा रहे, सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण 2023 कार्य  का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने प्रगणक दलों से चर्चा की और सर्वेक्षण हेतु निर्धारित प्रपत्रों का अवलोकन किया तथा प्रगणकों को पूरी गंभीरता के साथ त्रुटिरहित सर्वेक्षण करने के निर्देश दिए। सर्वेक्षण के लिए मकानों की नंबरिंग, सर्वे प्रक्रिया, पोर्टल में ऑनलाइन एन्ट्री एवं मैनुअल एन्ट्री इत्यादि के संबंध में दिशा-निर्देश दिये। कलेक्टर ने निरीक्षण कर सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण 2023 कार्य में नियुक्त अधिकारियों और प्रगणक से इस संबंध में जानकारी लेते हुए कहा कि सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण 2023 में डाटा बेस के अनुसार पात्र पाये जाने पर शासकीय योजनाओं का लाभ मिलेगा।


  कलेक्टर ने सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण 2023 कार्य के संबंध में चर्चा करते हुए इस संबंध में अवसर आवश्यक और महत्वपूर्ण जानकारी जानकारी दी। कलेक्टर ने अधिकारियों को प्रोत्साहित करते हुए  कहा कि गांव के सभी नागरिकों को सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण में भागीदार बनने के लिए प्रेरित करें।  निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने अनुविभागिय अधिकारी राजस्व सहित मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत  मुख्य नगरपालिका अधिकारी नगरी निकाय  सहित  अन्य प्रभारी अधिकारियों  और क्लस्टर के प्रभारी अधिकारियों से आज से शुरू हुई, सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण कार्य की  जानकारी ली। उन्होंने सभी अधिकारियों को गंभीरतापूर्वक कार्य करने कहा। 
         उल्लेखनीय है कि सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण 2023 में डाटाबेस जानकारी जैसे- परिवार के मुखिया की जानकारी, शैक्षणिक योग्यता, रोजगार की जानकारी, प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत है या नहीं, धान विक्रय का किसान पंजीयन क्रमांक, आधार नंबर, राशन कार्ड में परिवार की सूची, नरेगा जॉब कार्ड, परिवार की भूमि की जानकारी, परिवार की वार्षिक आय, सिंचाई साधन, वाहन एवं अन्य सामग्री, घर कच्चे या पक्के मकान, परिवार के कितने सदस्यों ने कौशल प्रशिक्षण प्राप्त किया, मोबाइल नंबर, उज्ज्वला गैस कनेक्शन, रोजगार की जानकारी जैसे-कृषि कार्य, स्वरोजगार, शासकीय नौकरी, निजी नौकरी, मजदूरी, बेरोजगारी इत्यादि का सर्वेक्षण किया जा रहा है। कलेक्टर के साथ ही अनुभागिय अधिकारी राजस्व एवं अन्य प्रभारी अधिकारियों ने भी अपने कलस्टर के ग्राम पंचायतों का निरीक्षण करते हुए आर्थिक-सामाजिक सर्वेक्षण कार्य का निरीक्षण किया। 


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.